Thursday, April 25, 2024
HomePakurप्रधानमंत्री के द्वारा आबूधाबी में मंदिर का निर्माण करवाया जाना काबिले तारीफ:...

प्रधानमंत्री के द्वारा आबूधाबी में मंदिर का निर्माण करवाया जाना काबिले तारीफ: रंजीत कुमार सिंह

देश प्रहरी की खबरें अब Google news पर

क्लिक करें
bachchan5

पाकुड़। राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी, जिला अध्यक्ष रंजीत कुमार सिंह ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है की भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री के द्वारा मुस्लिम देश अरब के आबूधाबी में मंदिर का निर्माण करवाया जाना काबिले तारीफ है। वहां के शासक ने मंदिर निर्माण हेतु जमीन दान में दिए यह देश के लिए भाईचारा की संदेश है। नौसेना के पूर्व अधिकारी जो भारतीय थे। उन्हें जासूसी करने के आरोप में कतर देश में मौत की सजा सुनाई गई थी। जो जेल में बंद थे। कतर देश के शासक शेख आमिर के साथ बीते 2 दिसंबर को भारत के यसस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के साथ मुलाकात कर उन्हें फांसी की सजा से मुक्त करवाए और भारत वापस रिहा होकर अपना देश लौट आए।

श्री सिंह कहते है इस तरह से भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री अपने कार्यकाल में कश्मीर में 370 धारा को खत्म करवाए हैं। यूपी के अयोध्या में श्रीराम मंदिर का निर्माण करवाए हैं, सभी जाति धर्म के गरीब व्यक्तियों के लिए प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण इलाकों में दिलवाएं हैं। ग्रामीण इलाकों में मुफ्त में बिजली का कनेक्शन मकान में दिलवाएं, घर-घर में शौचालय का भी निर्माण करवाए, गरीबों के लिए मुफ्त चिकित्सा के लिए 5 लाख हेल्थ कार्ड के द्वारा व्यवस्था की गई। लोग इलाज करवाते हैं। गरीब किसानों के लिए दो हजार महीना बैंकों के माध्यम से उनके खाते में दिलवाएं रहें हैं। ग्रामीण सुदूर इलाकों में गरीब महिलाओं के लिए उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त गैस कनेक्शन दिलवाएं। बैंकों में 1 रुपया महीना के तहत गरीबों के लिए 2 लाख का इंश्योरेंस करवाए सभी जाति धर्म के लिए प्रधानमंत्री अन्य योजना के तहत मुफ्त में राशन बटवाए तथा आगामी 5 साल तक गरीबों को फ्री में राशन जन वितरण प्रणाली के दुकान के द्वारा दी जाएगी। यह भी घोषणा करवाए हैं और गरीबों को अनाज मिल रही है।

उन्होंने कहा भारत की आजादी का यही सही मतलब है कि लोगों को महसूस हो कि हम आजाद भारत के लोग हैं। हमारे सरकार सरलता से दलित गरीब वंचित पिछड़ा, अल्पसंख्यक, आदिवासियों को लाभ प्रदान करें। ताकि हमें महसूस हो कि हम भारत में स्वतंत्र हैं और मुझे प्रशासन से और सरकार से भी मदद मिलती है। दफ्तरों में भी हर व्यक्तियों का काम सरल तरीके से होना चाहिए ताकि उन्हें लगे की हमें आजाद होने का यही मतलब है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments